Call: +91-94160-66613 Call: +91-96717-95565
Working Hours: 9:00AM - 5:00PM
Email us: [email protected]

Inaugural of Youth Festival -JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में तीन दिवसीय 8वें विश्वविद्यालय युवा महोत्सव का हुआ भव्यात्मक व विधिवत् शुभारंभ
संस्कृति से जुड़ाव एवं जानकारी के माध्यम बनते हैं सांस्कृतिक आयोजन : प्रो.विजय कायत
युवा पीढ़ी नशे एवं अन्य व्यसनों से दूर रहकर करें राष्ट्रहित में कार्य : अर्जुन चौटाला

चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय के युवा कल्याण निदेशालय द्वारा प्रायोजित 8वाँ युवा महोत्सव का जेसीडी विद्यापीठ प्रांगण में सोमवार को विधिवत् भव्यात्मक शुभारंभ, जिसमें मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों को मुख्य द्वार से लेकर प्रथम मंच तक लाने के लिए आयोजित की गई भव्य शोभायात्रा ने सभी का मन मोहा। इस युवा महोत्सव में चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. विजय कायत व उनकी धर्मपत्नी ने बतौर मुख्यातिथि उपस्थित होकर मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित करके इसका शुभारंभ किया। वहीं सांयकालीन सत्र में जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री अर्जुन चौटाला ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत करके युवाओं का हौंसलाफजाई की। हरियाणा की प्रसिद्ध लोक कलाकार सुश्री अर्चना सुहासिनी द्वारा प्रस्तुत ‘काले रंग पे मोरनी रूदन करे’ पर एक शानदार हरियाणवी नृत्य प्रदर्शन उद्घाटन समारोह का मुख्य आकर्षण था और दर्शकों से तालियों की वाहवाही लूटी। इसके अलावा उनके साथ विशेष रूप से चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय डॉ.राजकुमार सिवाच, चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय के डीन यूथ वेल्फेयर डॉ.सुरेन्द्र कुण्डू, सहायक निदेशक डॉ.राजेश चिकारा के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण एवं शहर की अनेक गणमान्य एवं विशेष हस्तियां भी उनके साथ मौजूद रही।

इस महोत्सव में तीन मंच बनाए गए थे जिसमें मुख्य मंच पर, विभिन्न टीमों द्वारा कोरियोग्राफी, हरियाणवी एकल नृत्य (पुरुष और महिला) और हरियाणवी लोक वाद्य (सोलो) का प्रदर्शन किया गया। कोरियोग्राफी में, टीम नं. 1914 ने किसानों की कठिनाईयों पर कोरियोग्राफी प्रस्तुत। वहीं टीम नं. 1921 ने युवाओं में बढ़ती नशे की लत पर कोरियोग्राफी प्रस्तुत करके समाज की बुराई के खिलाफ कड़ी लड़ाई लडऩे की शिक्षा दी। वहीं इसमें केदारनाथ त्रासदी पर कोरियोग्राफी की भी दर्शकों द्वारा खूब सराहना की गई। स्टेज द्वितीय पर इंडियन गु्रप सांग, इंडियन ऑर्केस्ट्रा और लाईट वोकल गज़ल की प्रस्तुतियां दी गई। वहीं तीसरी स्टेज पर क्लासिकल इंस्टरूमंटल सोलो, वेस्टर्न इंस्टरूमेंटल सोलो एवं हरियाणावीं फोक इंस्टरूमेंटल सोलो की प्रस्तुति दी गई।
सर्वप्रथम कार्यक्रम के समन्वयक एवं मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश ने मुख्यातिथि एवं सभी अतिथियों और न्यायाधीशों के अलावा विभिन्न कॉलेजों से आए हुए विद्यार्थियों एवं उनके प्राचार्यों का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय के युवा महोत्सव के तीन दिनों के सांस्कृतिक भाग की अनुसूची के बारे में संक्षिप्त परिचय भी प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए यह एक बेहतर कार्यक्रम रहेगा क्योंकि इसमें उनको अपनी कला को प्रस्तुत करने का अवसर प्राप्त होगा। हमारी संस्कृति बहुत समृद्ध है और हमें मुख्य अतिथि से प्रेरित होकर गर्व महसूस करना चाहिए।

मुख्यातिथि डॉ विजय कायत ने अपने संबोधन में छात्रों को शैक्षिक गतिविधियों के साथ-साथ पाठ्येतर गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रेरित किया क्योंकि वे उनके समग्र व्यक्तित्व विकास में उनकी मदद करते हैं। युवा महोत्सव हमारी संस्कृति को जानने व उसके साथ जुड़ाव का एक माध्यम प्रदान करते हैं। उन्होंने इस तरह के सार्थक कार्यक्रम के आयोजन के लिए जिला युवा कल्याण विभाग का आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने जुलूस में विभिन्न टीमों द्वारा प्रस्तुत उत्साह, आनंद, अनुशासन, विभिन्न प्रकार की संस्कृतियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम की थीम आओ इस धरा को रहने योग्य बनाएं की तर्ज को ध्यान में रखते हुए बच्चों ने काफी बेहतर प्रस्तुतिया दीं है जो बहुत ही सराहनीय है।

सांध्यकालीन कार्यक्रम के मुख्यातिथि श्री अर्जुन सिंह चौटाला ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम इस आयोजन के लिए बेहतर तैयारियों के लिए डॉ.शमीम शर्मा एवं उनकी टीम की सराहना करते हुए चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय का आभार प्रकट करते हुए युवाओं का हौंसलाफजाई करते हुए कहा कि आप में एक ऊर्जा है जिसे आप इस प्रकार के कार्यक्रमों में प्रदर्शित करके उसका सकारात्मक उपयोग करें तथा नशा एवं अन्य गलत आदतों का त्याग करके अपनी संस्कृति एवं संस्कारों का बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे अनुशासन में रहकर कोई भी कार्य करेंगे तो उसमें सफलता अवश्य प्राप्त होगी।

कार्यक्रम के अंत में जेसीडी आईबीएम कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने अपने धन्यवादी अभिभाषण में सभी का धन्यवाद करते हुए कहा कि युवाओं के इस कार्यक्रम में बेहतर प्रतिभाओं को देखने का अवसर प्राप्त हुआ है, जिसके लिए सभी विद्यार्थी एवं उनके कार्यक्रम प्रबंधक बधाई के पात्र हैं।
विभिन्न चरणों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के लिए अलग-अलग समितियों का गठन किया गया है। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के सभी घटक महाविद्यालयों के प्राचार्य, स्टाफ सदस्य, चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध समस्त महाविद्यालयों के प्राचार्यगण, विद्यार्थीगण एवं अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

JCDV Quiz